Home Tour & Travel भक्तों के दुखों को दूर करती हैं ये देवी माँ (विजयासन देवी...

भक्तों के दुखों को दूर करती हैं ये देवी माँ (विजयासन देवी मंदिर सलकनपुर)

1117
0
विजयासन देवी मंदिर सलकनपुर

विंध्यवासिनी विजयासन देवी मंदिर सलकनपुर

विंध्यवासिनी विजयासन देवी मंदिर  तहसील रहटी  ग्राम सलकनपुर  जिला  सीहोर मध्य प्रदेश में हे  यह बहुत प्राचीन मंदिर हे लगभग 400  साल पुराना  हे  यह मान्यता हे कि महिषासुरंदरीन के रूप में माँ दुर्गा ने रक्तबीज का वध किया था   एवं यहाँ विजय मुद्रा में तपस्या की थी इस कारण से यह विजासन  देवी कहलाती हे

इस मंदिर को सलकनपुर टेम्पल के नाम से भी जाना जाता हे यह मंदिर सलकनपुर ग्राम में लगभग 900  फिट कि ऊचाई पर एक पहाड पर देवी जी  विराज़मान हे मंदिर के गर्भ में 400  साल से २ ज्योति  प्रज्जवलित हे वैसे तो सालभर यहाँ देवी जी  के  भक़्तो का ताता  लगा रहता हे परन्तु नवरात्री के समय यहाँ मेला लगता हे जिस में बहुत से श्रद्धालु हिस्सा लेते हे

यह  भक़्तो  के पहुंचने के लिए पत्थर कि  बनी  1400  सीढ़ी  हे और गाड़ी से जाने के लिए रास्ता एवं लिफ्ट भी लगी हे

अगर आप मध्य प्रदेश  में रहते हे या घूमने  जाते हो तो एक बार विजयासन देवी के मंदिर अवश्य जाय

यह  मंदिर भोपाल से 70  km  ,होशंगाबाद  से 35 km  भोपाल एवं इंदौर  रोड पर रहटी  में हे

माता पार्वती का अवतार हैं विजयासन देवी!

पुराणों के अनुसार देवी विजयासन माता पार्वती का ही अवतार हैं, जिन्होंने देवताओं के आग्रह पर रक्तबीज नामक राक्षस का वध किया था और सृष्टि की रक्षा की थी।

बाघ करता है माता की परिक्रमा

बताया जाता है कि नजदीकी रातापानी के जंगलों से बाघ भी माता के मंदिर तक पहुंच जाता है। भक्तों मानते हैं कि मां दुर्गा का यह वाहन माता के दर्शन करने के लिए मंदिर के आसपास तक पहुंच जाता है।

ifax

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here