Home Festivals 2022 दीपावली कब है? लक्ष्मी पूजा शुभ मुहूर्त 2022

2022 दीपावली कब है? लक्ष्मी पूजा शुभ मुहूर्त 2022

दीपावली क्यों मनाई जाती है? भारतवासी दीपावली का त्यौहार कैसे मनाते है ?

291
0
2022 दीपावली कब है लक्ष्मी पूजा शुभ मुहूर्त 2022 .

जैसा की आप सभी जानते हैं दीपावली शरद ऋतु कार्तिक माह की अमावस्या को मनाया जाने वाला एक प्राचीन सनातन त्यौहार है। दीपावली भारत के सर्वाधिक एवं महत्वपूर्ण त्योहारों में से एक त्यौहार है। दीपावली संस्कृत शब्द (दीप + अवलि:) से मिलकर बना है। जिसका अर्थ होता हे पंक्ति में रखे हुए दीपक।

आइये जानते हैं 2022 में दीपावली कब है एवं लक्ष्मी पूजा का शुभ मुहूर्त कब है।

2022 दीपावली कब है

वर्ष 2022 में दीपावली 24 अक्टूबर दिन सोमवार ( हिन्दू माह – कार्तिक, शरद ऋतु , अमावस ) को है। जैसा की आप सभी जानते हैं यह पांच दिनों का त्यौहार होता हे जो धनतेरस से शुरू होकर भाईदूज तक चलता है।

  1. धनतेरस – वर्ष 2022 ,23 अक्टूबर, रविवार के दिन मनाया जाएगा।
  2. नरक चतुर्दशी – वर्ष 2022, 24 अक्टूबर, सोमवार के दिन मनाई जायगी।
  3. दीपावली- वर्ष 2022, 24 अक्टूबर, सोमवार के दिन मनाई जायगी।
  4. गोवर्धन पूजा- वर्ष 2022, 26 अक्टूबर, बुधवार के दिन मनाई जायगी।
  5. भाई दूज – वर्ष 2022, 27 अक्टूबर, गुरूवार के दिन मनाई जायगी।

दीपावली 2022 में लक्ष्मी पूजा का शुभ मुहूर्त कब है।

दीपावली के दिन संध्या और रात्रि के समय शुभ मुहूर्त में मां लक्ष्मी, विघ्नहर्ता भगवान गणेश और माता सरस्वती की पूजा होती है, हमेशा पूजा पाठ शुभ मुहूर्त में ही करना चाहिए शुभ मुहूर्त में किये गए काम हमेशा अच्छे फल देते हैं।

2022 में लक्ष्मी पूजा का शुभ मुहूर्त –
लक्ष्मी पूजा मुहूर्त्त :18:54:52 से 20:16:07 तक
अवधि :1 घंटे 21 मिनट
प्रदोष काल :17:43:11 से 20:16:07 तक
वृषभ काल :18:54:52 से 20:50:43 तक है।

दीपावली महानिशीथ काल मुहूर्त
लक्ष्मी पूजा मुहूर्त्त :23:40:02 से 24:31:00 तक
अवधि :0 घंटे 50
मिनटमहानिशीथ काल :23:40:02 से 24:31:00 तक
सिंह काल :25:26:25 से 27:44:05 तक है।

दीपावली शुभ चौघड़िया मुहूर्त
सायंकाल मुहूर्त्त (अमृत, चल):17:29:35 से 19:18:46 तक
रात्रि मुहूर्त्त (लाभ):22:29:56 से 24:05:31 तक
रात्रि मुहूर्त्त (शुभ, अमृत, चल):25:41:06 से 30:27:51 तक है।

दीपावली क्यों मनाई जाती है?

दीपावली सनातन धर्म में मनाया जाने वाला एक प्राचीन एवं महत्वपूर्ण त्यौहार है, विभिन्न ऐतिहासिक घटनाओं, कहानियों या मिथकों को चिह्नित करने के लिए हिंदू, जैन और सिखों द्वारा दीपावली मनायी जाती हे लेकिन वे सब बुराई पर अच्छाई, अंधकार पर प्रकाश की की विजय के दर्शाते हैं।

प्राचीन हिन्दू ग्रन्थ रामायण के अनुसार जब अयोध्या के राजा दशरथ की आज्ञा से हमारे आराध्य मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान् श्री राम अपनी अर्धांगिनी माता सीता और अनुज लक्ष्मण के साथ १४ वर्ष के वनवास चले गए थे। १४ वर्ष के वनवास के बाद जब रावण का वध कर अयोध्या लौटे तब अयोध्यावासियों का हृदय अपने परम प्रिय राजा के आगमन से प्रफुल्लित हो उठा था। भगवान श्री राम के स्वागत में अयोध्यावासियों ने घी के दीपक जलाए, काली अमावस्या की वह रात्रि दीयों की रोशनी से जगमगा उठी। तब से आज तक भारतीय प्रति वर्ष यह प्रकाश-पर्व हर्ष व उल्लास से मनाते हैं।

भारतवासी दीपावली का त्यौहार कैसे मनाते है ?

भारत में दीपावली की तैयारियां सात -आठ दिनों पहले से ही शुरू हो जाती है , लोग अपने घर, दुकान एवं कार्यालय (office ) की साफ़ सफाई , रंगाई एवं पुताई करते हैं। घर, दुकानों एवं सड़कों को सजाया जाता है। इन दिनों बाज़ार में काफी चहल – पहल होती है। मिठाइयाँ , कपड़े , पटाके एवं साज सज्जा के सामान की दुकानें लगाई जाती है, यह पांच दिनों का त्यौहार होता हे जो धनतेरस से शुरू होकर भाईदूज तक चलता है।
दीपावली वाले दिन घर को फूल माला और आम के पत्तों से सजाया जाता है। शाम के वक़्त मां लक्ष्मी, विघ्नहर्ता भगवान गणेश और माता सरस्वती की पूजा होती है।
दिए लगाए जाते है , बड़ो का आशीर्वाद लिया जाता है।

इस तरह हम दीपवाली का त्यौहार मनाते हैं।

पूछे जाने वाले प्रश्न

दीपावली कब कौन से महिने में है?
वर्ष 2022 में दीपावली 24 अक्टूबर दिन सोमवार ( हिन्दू माह – कार्तिक, शरद ऋतु , अमावस ) को है।

दीपावली लक्ष्मी पूजा का शुभ मुहूर्त कब है?

लक्ष्मी पूजा मुहूर्त्त :18:54:52 से 20:16:07 तक
अवधि :1 घंटे 21 मिनट
प्रदोष काल :17:43:11 से 20:16:07 तक
वृषभ काल :18:54:52 से 20:50:43 तक है।

दीपावली में कौन से भगवन की पूजा होती है?
दीपावली के दिन संध्या और रात्रि के समय शुभ मुहूर्त में मां लक्ष्मी, विघ्नहर्ता भगवान गणेश और माता सरस्वती की पूजा होती है।

ifax

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here